मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजना: कर्ज माफी सूची mp [लिस्ट]

प्यारे दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर आज हमारे पास मध्यप्रदेश के लोगों के लिए एक खुशखबरी है मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा चुने गए मुख्यमंत्री कमलनाथ जीने मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजना की घोषणा की है दोस्तों किसानों को टेंशन लेने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि किसानों का कर्जा माफ हो चुका है।

मध्यप्रदेश राज्य के लोगों के लिए मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजना एक बहुत ही खुशी का मौका लाई है जो कि किसानों के ऊपर कर्ज है उसको माफ करवाएगी। और आप इसका कैसे लाभ ले सकते हैं और कैसे अप्लाई कर सकते हैं क्या क्या पात्रता है और कौन कौन से दस्तावेज जरूरी हैं यह सभी जानकारी हम आपको बताने वाले हैं तो आर्टिकल को पढ़ते रहिए‌।

दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि मध्यप्रदेश राज्य के किसानों का कर्ज माफ हो चुका है और मध्यप्रदेश के 3300000 किसानों का कर्ज माफ किया गया है। मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजना सूची में नाम आएगा। किसान भाइयों को कर्ज माफी योजना के प्रमाण पत्र दिए जाएंगे।

दोस्तों बता दें कि जिन किसान भाइयों को प्रमाण पत्र दिए जाएंगे उनका कर्जा माफ हो चुका है। उसमें डूबते कर्ज को माफ करने के साथ नियमित कर्ज पर लाखों ₹25000 प्रोत्साहन दिया जाएगा।

मध्यप्रदेश में स्थित राष्ट्रीय कृत एवं सहकारी बैंकों में अल्पकालीन फसल सरल के रूप में शासन द्वारा पात्रता अनुसार पाए गए किसान भाइयों के ₹200000 की सीमा तक का दिनांक 31 मार्च 2018 की स्थिति में कर्ज माफ किया जाता है।

कर्ज माफी जून 2009 के बाद के गद्दार किसान भाइयों की होगी इसमें करीब 33 लाख किसान भाइयों को फायदा मिलेगा।

सिर्फ खेती के लिए लिया गया कर्ज होगा माफ

  • बता दें कि जिन किसानों ने ट्रैक्टर बाकुआ या अनूप करोड़ों के लिए कर्ज लिया है तो उसे कर्ज माफी के लिए दायरे में नहीं लिया जाएगा।
  • दोस्तों सिर्फ खेती के लिए लिया गया कर्जा माफ होगा।
  • और बता दें कि अगर एक किसान ने दो तीन बैंकों से कर्ज लिया है तो सिर्फ सरकारी बैंक का कर्ज माफ होगा।
  • कर्ज माफ कुल ₹200000 तक का ही होगा।
  • और बता दें कि इसके लिए पहले किसान को कालातीत बकाया राशि बैंक को वापस देनी होगी।

कितने किसानों को होगा फायदा

  • कर्ज माफी जून 2009 के बाद के गद्दार किसान भाइयों की होगी इसमें करीब 33 लाख किसान भाइयों को फायदा मिलेगा।
  • इसमें करीब 20000 करोड रुपए का भारत सरकार पर आएगा।
  • करीब 15000 करोड रुपए डूबत कर्ज है।
  • इसमें 56000 करोड़ रुपए का लोन 4100000 किसानों किसानों ने लिया है।
  • डूबत कर्ज़ को माफ करने के साथ नियमित कर्ज पर करीब ₹25000 प्रोत्साहन दिया जाएगा।
  • मध्यप्रदेश के किसानों पर सरकारी बैंक, राष्ट्रीयकृत बैंक, ग्रामीण विकास बैंक और निजी बैंकों का 70000 करोड रुपए से ज्यादा लोन है।

मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजना पात्रता

  • इसके लिए किसान मध्यप्रदेश राज्य का होना चाहिए
  • इसमें करीब 3300000 किसानों को फायदा मिलेगा और कर्ज माफी जून 2009 के बाद के कर्जदार किसानों की ही होगी।
  • अगर किसान ने दो या तीन बैंकों से कर्ज लिया है तो सिर्फ सरकारी बैंक का कर्ज माफ होगा।
  • सिर्फ खेती पर लिया गया कर्ज होगा माफ।

किसान ऋण मोचन योजना लिस्ट

  • Agar Malwa
  • Alirajpur
  • Anuppur
  • Ashoknagar
  • Balaghat
  • Barwani
  • Betul
  • Bhind
  • Bhopal
  • Burhanpur
  • Chhatarpur
  • Chhindwara
  • Damoh
  • Datia
  • Dewas
  • Dhar
  • Dindori
  • Guna
  • Gwalior
  • Harda
  • Hoshangabad
  • Indore
  • Jabalpur
  • Jhabua
  • Katni
  • Khandwa
  • Khargone
  • Mandla
  • Mandsaur
  • Morena
  • Narsinghpur
  • Neemuch
  • Panna
  • Raisen
  • Rajgarh
  • Ratlam
  • Rewa
  • Sagar
  • Satna
  • Sehore
  • Seoni
  • Shahdol
  • Shajapur
  • Sheopur
  • Shivpuri
  • Sidhi
  • Singrauli
  • Tikamgarh
  • Ujjain
  • Umaria
  • Vidisha

दोस्तों बता दें कि जिन किसान भाइयों का मध्यप्रदेश में लोन माफ हुआ है। उन सभी के लिए जल्दी ही ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाएगा। इसमें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा, और किसान भाइयों का कर्ज माफ हो जाएगा। बता दें कि यदि आप लोन माफ करवाना चाहते हैं तो आपके पास आधार कार्ड होना जरूरी है।

दोस्तों बता दें कि अगर इस योजना से जुड़ी कोई भी नई जानकारी हमें मिलती है तो हम इस आर्टिकल को अपडेट करते रहेंगे जिससे कि आप इसे पढ़कर सभी जानकारी हासिल कर सकें धन्यवाद।

ये भी पढ़े

आखरी शब्द

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको यह मध्यप्रदेश किसान कर्ज माफी योजनाकी जानकारी पसंद आई होगी अगर आप इससे जुड़ी कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपका रिप्लाई जरूर करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *