उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना: Uttar Pradesh Mukhbir Yojana 2021 in Hindi

उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना: दोस्तों आप जानते ही हैं कि हम अपनी वेबसाइट पर सरकारी योजनाओं से जुड़ी जानकारी बताते रहते हैं। हम आपसे निवेदन करते हैं कि आप हमारी वेबसाइट पर दिए गए बैल आइकन दबाकर ऑन कर दीजिए जिससे कि हम नई योजनाओं के बारे में बताएंगे आपको तुरंत पता चल जाएगा।

दोस्तों मुझे बताते हुए अति प्रसन्नता हो रही है कि उत्तर प्रदेश सरकार बहुत सी स्कीम शुरू कर रही है इस स्कीम का नाम मुखबिर योजना है जो कि मुख्यमंत्री योगी जी ने 24 जून 2018 को शुरू की थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह पहल महिलाओं को स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रदान करेगी।

राज्य में कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए इस योजना को आरंभ किया गया है;। और इस योजना को राज्य के निजी अस्पताल अल्ट्रासाउंड सेंटरों में शुरू किया गया है;। जो कि इस योजना में अलग-अलग अस्पतालों पर नजर रखेंगे।

उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना

दोस्तों अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि कौन-कौन लोग इस योजना में भाग ले सकते हैं तथा किस प्रकार पता चलेगा कि कौन से व्यक्ति लिंग जांच करवा रहा है इसकी जानकारी हम इस लेख में बताने वाले हैं तो कृपया इसे ध्यान से आखिर तक पढ़ें।

यूपी  मुखबिर योजना 2021

बता दें कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य समाज में घटते बाल लिंगानुपात रोकना है। और तकनीक का दुरुपयोग और निरीक्षण कर बेटियो को जन्म लेने से रोकने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई एवं समाज को बैटरी बचाने के लिए जागरूक करना है। गर्भधारण पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक के दुरुपयोग को रोकना है।

उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना

यानी 1000 लड़कों पर सिर्फ 903 लड़कियां शेष हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुखबिर योजना को शुरू किया है। यह योजना पीसीएनटीडीटी एक्ट के तहत आरंभ की जा रही है। UP मुखबिर योजना के तहत पकड़े गए नर्सिंग होम्स और अल्ट्रासाउंड सेंटर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि इस योजना में प्राइवेट संस्था से भी मदद ली जाएगी।

मुखबिर योजना उत्तर प्रदेश

दोस्तों बता दें कि मुखबिर योजना एक ऐसी योजना है जिसके तहत लिंग की पहचान एवं गर्भपात करवाने वाले व्यक्तियों की जानकारी देने के लिए मुखबिर ओ को तैयार किया गया है। up मुखबिर योजना के तहत गर्भवती महिला के साथ एक सहायक को ग्राहक बनाकर भेजा जाएगा और जो लिंग की जांच करेंगे दोषियों को गिरफ्तार किया जाएगा। उत्तर प्रदेश मुख्य योजना के तहत इस ऑपरेशन के कामयाब होने पर मुखबिर को ₹60000 ग्राहक को एक लाख और उसके सहायक को 40,000 पुरस्कार की रकम दी जाएगी।

यूपी मुखबिर योजना पुरस्कार राशि

  • मुखबिर को ₹60000 दिए जाएंगे।
  • सहायक को ₹40000 दिए जाएंगे।
  • ग्राहक को ₹100000 दिए जाएंगे।

ये भी पढ़े

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको यह उत्तर प्रदेश मुखबिर योजना पसंद आई होगी;। और आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *